Radha Soami Quotes in Hindi, Sayings about Satguru – Radha Sawami Satsang Thoughts

जब सतगुरु के दर जाना हो,
तो दिमाग बंद कर लेना…..
जब सतगुरु के शबद सुनने हों,
तो कान खोल लेना…..
जब सतगुरु पे विश्वास करना हो, तो आँखें बंद कर
लेना….
जब सतगुरु को अर्पण करना हो, तो दिल खोल
लेना……
जब सतगुरु का सत्संग सुनना हो, तो मुख बंद कर
लेना…..
जब सतगुरु की महक लेनी हो,
तो नासिका खोल लेना…..
जब सतगुरु की सेवा करनी हो,
तो घड़ी बंद कर लेना…..
जब सतगुरु से अरदास करनी हो,
तो झोली खोल लेना….. !!!!!!
मैंने फूल माँगा तो
सतगुरु ने गुलदस्ता दे दिया
मैंने गुलदस्ता माँगा तो
उन्होने बगीचा दे दिया
और जब मैंने बगीचा माँगा
तो सतगुरु ने कहा बस बस…..
मुझे पता है कि तू अब क्या मांगेगा
चल मैं ही तेरे साथ चलता हूँ
तुझे खुशबू से बड़ा प्यार है ना.
“यह सतगुरु का दर है यहाँ मनमानी नही होती,
यह बात भी पक्की है कि कोई
परेशानी नही होती,
कुछ तो बात होगी मेरे सतगुरु में,
यूंही दुनिया इनकी दीवानी नही होती…”

terms:

  • radha soami thought in hindi
  • satguru quotes in hindi
  • radha soami quotes
  • radha soami satsang beas quotes in hindi
  • radha swami status
  • yhs-fullyhosted_003
  • radha soami whatsapp status
  • radha soami sms in hindi
  • RSSB quotes
  • satsang quotes in hindi

3 comments to this article

  1. monu sukhralia

    on August 18, 2014 at 7:35 am - Reply

    hiii

  2. Kailash chouhan

    on June 18, 2016 at 7:41 am - Reply

    राधा स्वामी जी सतगुरु दयाल की दया लाख बुरा आश्रम पारा

  3. Kailash chouhan

    on June 18, 2016 at 7:42 am - Reply

    जब सतगुरु के दर जाना हो,
    तो दिमाग बंद कर लेना…..
    जब सतगुरु के शबद सुनने हों,
    तो कान खोल लेना…..
    जब सतगुरु पे विश्वास करना हो, तो आँखें बंद कर
    लेना….
    जब सतगुरु को अर्पण करना हो, तो दिल खोल
    लेना……
    जब सतगुरु का सत्संग सुनना हो, तो मुख बंद कर
    लेना…..
    जब सतगुरु की महक लेनी हो,
    तो नासिका खोल लेना…..
    जब सतगुरु की सेवा करनी हो,
    तो घड़ी बंद कर लेना…..
    जब सतगुरु से अरदास करनी हो,
    तो झोली खोल लेना….. !!!!!!
    मैंने फूल माँगा तो
    सतगुरु ने गुलदस्ता दे दिया
    मैंने गुलदस्ता माँगा तो
    उन्होने बगीचा दे दिया
    और जब मैंने बगीचा माँगा
    तो सतगुरु ने कहा बस बस…..
    मुझे पता है कि तू अब क्या मांगेगा
    चल मैं ही तेरे साथ चलता हूँ
    तुझे खुशबू से बड़ा प्यार है ना.
    “यह सतगुरु का दर है यहाँ मनमानी नही होती,
    यह बात भी पक्की है कि कोई
    परेशानी नही होती,
    कुछ तो बात होगी मेरे सतगुरु में,
    यूंही दुनिया इनकी दीवानी नही होती…”

Leave a Reply